International Slider

भारत के रत्न को देश-विदेश के प्रतिनिधियों ने दी श्रद्धांजलि

नई दिल्ली / OmExpress News पूर्व प्रधानमंत्री भारत-रत्न अटल बिहारी वाजपेयी को आखिरी विदाई देने के लिए देश के कोने-कोने से लोग दिल्ली पहुंचे । गौरतलब है कि वाजपेयी (93) का लंबी बीमारी के बाद कल एम्स में निधन हो गया और शुक्रवार को यहां उनकी अंत्येष्टि की गई। Tribute to Atal Bihari Vajpayee

चिलचिलाती धूप के बावजूद हजारों की संख्या में लोग भाजपा मुख्यालय से सात किमी की दूरी तय कर राष्ट्रीय स्मृति स्थल तक गए जहां पूर्व प्रधानमंत्री की अंत्येष्टि की गई। रास्ते में लोगों ने पार्थिव शरीर पर पुष्प बरसाये।

दत्तक पुत्री ने दी मुखाग्नि – Tribute to Atal Bihari Vajpayee

पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को आज शाम राष्‍‍‍‍‍‍ट्रीय स्‍मृति स्‍थल पर हिंदू रीति रिवाज के साथ मुखाग्नि दे दी गई। वाजपेयी को उनकी दत्‍तक पुत्री नमिता कौल भट्टाचार्या ने मुखाग्नि दी। इस दौरान स्‍मृति स्‍थल पर राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी समेत पक्ष-विपक्ष के सभी बड़े नेता मौजूद रहे। इससे पहले सेना के तीनों अंगों के प्रमुखों ने उनके पार्थिव शरीर पर पुष्‍पचक्र चढ़ाकर श्रद्धांजलि दी।

पक्ष-विपक्ष के बड़े नेताओं व विदेशी प्रतिनिधियों ने दी श्रद्धांजलि

राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद, उप राष्‍ट्रपति वैंकेया नायडू, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, लोकसभा अध्‍यक्ष सुमित्रा महाजन, बीजेपी अध्‍यक्ष अमित शाह, वरिष्‍ठ बीजेपी नेता लाल कृष्‍ण आडवाणी, रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण, कांग्रेस के वरिष्‍ठ नेता और पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के अलावा अन्‍य देशों से आए प्रतिनिधियों ने भी पुष्‍पचक्र चढ़ाकर श्रद्धांजलि अर्पित की। Tribute to Atal Bihari Vajpayee

सुरक्षा चाक-चौबंद

उनका पार्थिव शरीर सुबह उनके सरकारी आवास से बीजेपी मुख्‍यालय लाया गया था, जहां हजारों लोगों ने उनके अंतिम दर्शन किए। इसके बाद जनसैलाब के साथ उनकी अंतिम यात्रा स्‍मृति स्‍थल पहुंची। वरिष्‍ठ बीजेपी नेता लाल कृष्‍ण आडवाणी ने भी अपने पुराने साथी अटल जी को नमन करते हुए श्रद्धांजलि अर्पित की। अटल जी के अंतिम संस्‍कार के लिए एक ट्रक चंदन की लकड़ी मंगाई गई थी। साथ ही सुरक्षा व्‍यवस्‍था को चाक-चौबंद करने के लिए एसपीजी के जवानों के अलावा पुलिस और सुरक्षाबलों के जवान लगाए गए। Tribute to Atal Bihari Vajpayee

विदेशी नेताओं ने भी दी श्रद्धांजलि

अंतिम संस्‍कार कार्यक्रम में अफगानिस्‍तान के पूर्व राष्‍ट्रपति हामिद करजई भी शामिल हुए। पाकिस्‍तान की ओर से वहां के कानून मंत्री अली जफर अंतिम संस्‍कार के लिए पहुंचे। अटल जी के अंतिम संस्‍कार में नेपाल के विदेश मंत्री प्रदीप कुमार, बांग्‍लादेश के विदेश मंत्री अबुल हसन महमूद अली, भूटान के राजा जिग्‍मे खेसर नामग्‍येल वांगचुक और पाकिस्‍तानी प्रतिनिधि भी शामिल हुए।