National Slider धर्म-आध्यात्म

कुंभ मेला : लाखों श्रद्धालुओं पर आतंक का खतरा

लखनऊ। प्रयागराज कुंभ मेले में विभिन्न राज्यों से श्रद्धालुओं का आवागमन शुरू होने से रेलवे स्टेशनों पर भीड़ का दवाब बढ़ा है। ऐसे में श्रद्धालु आतंकियों के आसान लक्ष्य हो सकते हैं। उल्लेखनीय है कि अकेले प्रयागराज स्टेशन पर 10 हजार श्रद्धालुओं के ठहरने की व्यवस्था रहेगी। आसपास के स्टेशनों पर भी श्रद्धालुओं का भारी जमावड़ा रहेगा। खुफिया जानकारी मिलने के बाद पूर्वोत्तर रेलवे ने आतंकी खतरे को लेकर अलर्ट जारी किया है।

 

पूर्वोत्तर रेलवे मंडल सुरक्षा आयुक्त ने 16 जिलों के जिला प्रशासन को भी आगाह किया है। अलर्ट पर आने वाले जिलों में देवरिया, गोरखपुर, बलिया, गाजीपुर, मऊ, वाराणसी, जौनपुर, आजमगढ़, कुशीनगर, महराजगंज, प्रयागराज, मिर्जापुर व भदोही के अलावा बिहार राज्य के छपरा, सिवान और गोपालगंज के डीएम-एसपी को पत्र लिखकर पुख्ता सुरक्षा व्यवस्था करने को कहा है।


14 जनवरी मकर संक्रांति पर 40 लाख, 21 जनवरी पौष पूर्णिमा पर एक करोड़, 10 फरवरी वसंत पंचमी 30 लाख, 19 फरवरी माघी पूर्णिमा को 30 लाख, 04 मार्च महाशिवरात्रि को 10 लाख, भीड़ नियंत्रण के उपाय होंगे।
ध्यान रहे कि इस बार कुंभ मेले में यातायात प्लान से लेकर भीड़ नियंत्रण, अतिरिक्त बसों व रेलवे स्टेशनों व स्पेशल ट्रेनों के बंदोबस्त समेत कई अहम बंदोबस्त हैं। प्रयागराज महाकुंभ में वर्ष 2013 में रेलवे जंक्शन दुर्घटना की न्यायिक जांच आयोग की रिपोर्ट आने के बाद आयोग के सुझावों पर अमल किया जा रहा है।

इस कड़ी में एकल दिशा व्यवस्था के सिद्धांत पर सभी स्टेशनों की यातायात योजना तैयार की गई है। कुंभ में 10 फरवरी, 2013 को इलाहाबाद रेलवे जंक्शन पर दुर्घटना हुई थी। इसके लिए सपा सरकार ने एकल सदस्यीय जांच आयोग का गठन किया था। उसके भी सुझावों पर अमल कर कई खतरों को टाला जा सकेगा।(PB)