Rohtak News 23 January 2019
National Rohtak Slider

रोहतक सार समाचार : बुधवार, 23 जनवरी 2019

मेरे संसदीय क्षेत्र के लोगों और मेरे बीच परस्पर विश्वास का रिश्ता है अटूट : दीपेन्द्र हुड्डा

OmExpress News / हर्षित सैनी / रोहतक जिले के अनेक गांवों मे आयोजित कार्यकर्मों में कांग्रेस वर्किंग कमेटी के सदस्य और सांसद दीपेन्द्र हुड्डा पहुंचे। भारी संख्या में उपस्थित स्थानीय लोगों ने सांसद दीपेन्द्र हुड्डा का भव्य स्वागत किया। लोगों के इस अपनेपन और जोशीले स्वागत के लिए सांसद ने सभी का आभार व्यक्त किया।

उन्होंने कहा कि यहां पर मुझे हमेशा ही सभी का आशिर्वाद और समर्थन मिला है। आप लोगों से मिली इसी ताकत के बलबूते मैं संघर्ष कर पाता हूं और यही ताकत हर बार मुझे दोगुने जोश के साथ मेहनत करने की प्रेरणा भी देती है। कांग्रेस वर्किंग कमेटी के सदस्य का कहना था कि जब तक आप सभी के प्यार और आशिर्वाद का हाथ मेरे सिर पर है। कोई सरकार हो और कितने भी क्षडयंत्र रच ले, मेरा संघर्ष न कभी रोक पाई है, न कभी रोक पाएगी। मैंने पहले भी अपनी पूरी ऊर्जा के साथ इलाके के विकास और जनहित के लिये रातदिन एक करके काम किया है और आगे भी करता रहूँगा।

कांग्रेस वर्किंग कमेटी के सदस्य ने कहा, अब समय आ गया है उन ताकतों को हराने का जो समाज को बांटने और हमारे सदियों पुराने भाईचारे को चोट पहुंचाने का जिस भाजपा सरकार ने काम किया है। हम सभी को मिलकर उन ताकतों को हराने का संकल्प लेना है ताकि भाईचारे की नीव पर हरियाणा को दोबारा विकास की बुलंदियों पर ले जा सकें।

दीपेन्द्र हुड्डा ने कहा कि भाजपा के झूठे वायदों के कारण पूरे प्रदेश में बदलाव का माहौल है। आज पूरे देश व हमारे प्रदेश में किसान कर्जे में डूबा हुआ है। किसान मजबूर होकर आत्महत्या कर रहा है। उनका कहना था कि गरीब आदमी को रोजगार नहीं मिला है, वह रोजगार के लिए दर-दर भटक रहा है। व्यापारी के पास व्यापार नहीं है और कर्मचारी को सम्मान नहीं मिल रहा है। कर्मचारी सड़कों पर आकर प्रदर्शन कर रहा है। प्रदेश में भाजपा सरकार ने आने से पहले 154वायदे किए थे, लेकिन एक भी वायदा पूरा नहीं किया।

कांग्रेसी सांसद ने कहा कि विकास के पायदान पर हरियाणा देश में पहले नंबर पर था। लेकिन अब किसान, व्यापारी व कर्मचारी पर अत्याचार के मामले में नंबर 1 हो गया है। उन्होंने कहा कि भाजपा की केंद्र्र और प्रदेश सरकारों ने हरियाणा का सत्यानाश करने में कसर नहीं छोड़ी। इसे कई साल पीछे छोड़ दिया। अब हरियाणा की राजनीति एक निर्णायक मोड़ पर है। इसे हम सभी मिलकर दोबारा से हरियाणा को खुशहाली पर ले जा सकते हैं।

दीपेन्द्र हुड्डा ने कहा कि जींद उपचुनाव पर प्रदेश ही नहीं बल्कि पूरा देश टकटकी लगाए देख रहा है। इनेलो व जेजेपी के खाते में जो वोट जाएगा, वह इनके नहीं बल्कि बीजेपी के खाते में वोट जाएगा। इसलिए जींद की जनता कांग्रेस का साथ दें और रणदीप सुरजेवाला को भारी मतों से जिता कर जींद में विकास की नई नींव रखें।

राष्ट्रीय होम्योपैथी कमीशन का विरोध तेज करेंगे : डा. रामजी सिंह

हर्षित सैनी / केंद्र सरकार द्वारा प्रस्तावित नेशनल कमीशन ऑफ होम्योपैथ ( एनसीएच) का देश भर के होम्योपैथ चिकित्सकों ने विरोध किया है। मेडिकल कौंसिल ऑफ होम्योपैथी राष्ट्रीय कार्यकारिणी की रोहतक में बैठक हुई। जेआर किसान होम्योपैथी मेडिकल कालेज में आयोजित बैठक की अध्यक्षता एसोसिएशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष डा. रामजी सिंह ने की।  Rohtak Daily News

डा. रामजी सिंह ने कहा कि केंद्र सरकार द्वारा प्रस्तावित बिल अलोकतांत्रिक है। कमीशन का जो प्रारूप तैयार किया गया है, वह न तो चिकित्सकों के हक में है और न शिक्षण संस्थानों की सेहत के लिए ठीक है। इस अधिनियम का देश की तमाम होम्योपैथी चिकित्सा संस्थाओं पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ेगा।

उन्होंने कहा कि कमीशन की ओर से जो नियुक्तियां की जानी हैं वे सभी सरकार द्वारा मनोनीत की जानी है। प्रदेश स्तर से प्रतिनिधियों का चयन बंद किया जा रहा है, जैसा कि दस हजार चिकित्सकों पर एक प्रतिनिधि का मनोनयन होता रहा है।

बैठक में उपस्थित राष्ट्रीय कौंसिल के पूर्व अध्यक्ष एवं एसोसिएशन के प्रवक्ता डा. अरूण भासमे ने कहा कि कमीशन के विरोध में देश भर के होम्योपैथी डाक्टर एक दिन अस्पताल, क्लिनिक एवं अन्य सेवाएं बंद रखेंगे। कोलकात्ता से आए एसो. के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष इल्ताफ हुसैन ने कहा कि केंद्र सरकार को इस बारे में कई बार ज्ञापन दिया गया है लेकिन इस पर कोई गौर नहीं किया जा रहा है, इसलिए विरोध तेज करने का निर्णय लिया है।

हरियाणा एसोसिएशन के प्रदेशाध्यक्ष डा. सुरेश कुमार नांदल ने कहा कि होम्योपैथी डिग्री कोर्स में नीट की अनिवार्यता फिलहाल समाप्त की जाए, संभवतया इस कोर्स के लिए अलग से प्रवेश परीक्षा के मापदंड तय किए जाएं। इसके अलावा शिक्षण संस्थाओं में प्राध्यापकों की प्रमोशन को सरल किया जाए।

हरियाणा में खुलेंगे दो होम्योपैथी सरकारी कालेज

हरियाणा प्रदेश होम्योपैथी बोर्ड के सदस्य डा अशोक वर्मा ने बताया कि आयुष मंत्रालय के अनुमोदन पर हरियाणा सरकार ने श्रीकृष्णा राजकीय आयुष यूनिवार्सिटी में तथा अंबाला के गांव मंगली में होम्योपैथी के दो नए स्नातक कालेज खोलने का निर्णय लिया है। इस दिशा में कार्य शुरू हो चुका है।

उन्होंने कहा कि इन कालेजों की स्थापना से प्रदेश में होम्योपैथी चिकित्सा का विस्तार होगा। राज्य सरकार जल्द ही सरकारी डिस्पेंसरियों में डाक्टरों की भर्ती करने जा रही है। इसके अलावा प्रदेश के तमाम चिकित्सकों का ऑनलाइन पंजीकरण शुरू किया जा चुका है।

नेताजी सुभाष चन्द्र बोस की 122वीं जयन्ती पर शहीद भगत सिंह ब्रिगेड ने किया उन्हें नमन

नेताजी सुभाष चन्द्र बोस की 122वीं जयन्ती पर आज शहीद भगत सिंह ब्रिगेड़ ने जिलाध्यक्ष अंकित राणा की अध्यक्षता में नेताजी सुभाष चन्द्र बोस की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर श्रद्धांजलि अर्पित की। Rohtak Daily News

इस अवसर पर अंकित राणा ने कहा कि नेताजी सुभाष चन्द्र बोस ने देश को आजादी की राह दिखाई थी। उन्होंने अथक प्रयासों से आजाद हिंद फौज की स्थापना की तथा देश के लिए आजादी की लड़ाई लड़ी। उन्होंने अंग्रेजी सरकार में उच्चाधिकारी पद को लात मारते हुए देश को आजाद करवाने का सपना देखा। इसके लिए उन्होंने अपना पूरा जीवन देश को समर्पित कर दिया। ऐसे महान सपूत ने अपना बलिदान देकर देश की आजादी का मार्ग प्रशस्त किया। उनके बलिदान को पूरा देश हमेशा याद रखेगा।

arham-english-academy

अंकित राणा ने कहा कि ऐसी महान विभूति को नमन करना हर हिंदुस्तानी का परम कत्र्तव्य है। युवाओं को उनके दिखाये रास्ते पर चलना चाहिए तथा अपने जीवन को देशभक्ति पर कुर्बान करना चाहिए। Rohtak Daily News

इस अवसर पर अजय दहिया, सोनू बल्हारा, अमित चुलाना, रोहित ढुल, डॉ. पाले, समाजसेवी राहुल पटवारी, सुमित बल्हारा, नीरज मकडौली, दीपक शर्मा, आशीष डबास, जीतू पहलवान, आनन्द फौगाट, अंशदीप राणा, पेडी मलिक आदि मुख्य रूप से मौजूद रहे।

खेलों में प्रदेश का नाम चमका रही बेटियां, पढऩे को स्कूल नहीं – Rohtak Daily News

हर्षित सैनी / मथुरा में 20 जनवरी को सम्पन्न हुई 53वीं नेशनल क्रॉस कंट्री चैंपियनशिप-2019 में गांव खरावड़ की बेटी स्नेहा मलिक ने रजत पदक जीत कर गांव, जिले व राज्य का नाम एक बार फिर रोशन किया है।  Rohtak Daily News

shyam_jewellersवहीं गांव में बेटियों के कन्डम हुए राजकीय कन्या वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय के भवन निर्माण के लिए ग्राम पंचायत व ग्रामवासियों ने मुख्यमंत्री से लेकर जिले के शिक्षा अधिकारी तक बार-बार प्रार्थना करने पर भी अभी तक अन्तिम आदेश जारी नहीं किये हैं। सर्दी के मौसम में बेटियां गांव के शहीद ओमप्रकाश वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय में सुबह की शिफ्ट में पढऩे को मजबूर हैं। लगभग 50 छात्रायें अन्य स्कूलों में प्रवेश ले चुकी हैं। 10 महीनों से कन्या विद्यालय में प्राचार्या भी नहीं है। इस बारे में भी सीएम विंडो पर शिकायत लगाई गई है।

कन्या विद्यालय भवन के शीघ्र निर्माण करवाने के लिए आज गांव की पंचायत, सरपंच बिजेन्द्र मलिक, शिक्षा समिति प्रधान कैप्टन जगवीर मलिक, पं. नंद किशोर, राजबीर मलिक, पंच बाली सहित जिला उपायुक्त डॉ. यश गर्ग व जिला शिक्षा अधिकारी से मिली तथा गांव की बेटियों की समस्या के बारे में उन्हें अवगत करवाया।

पंचायत ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ मिशन तभी सफल होगा जब उनके लिए स्कूल होंगे व उनमें फर्नीचर, कम्प्यूटर, वॉश रूम जैसी सुविधायें उपलब्ध होंगी। इन मूलभूत सुविधाओं के अभाव में हरियाणा में शिक्षा स्तर तेजी से गिर रहा है। सरकार को इस ओर सबसे पहले ध्यान देना चाहिए था, जिस पर अभी तक ध्यान नहीं दिया जा रहा है।

ईपीएफ घोटाले के आरोपियों के खिलाफ जल्द कार्यवाही करे प्रशासक : कीन्हा

हर्षित सैनी / स्थानीय छोटूराम बहुतकनीकी के समस्त स्टाफ ने सामूहिक रूप से भविष्य निधि खातों में 48 लाख रुपए की अनियमितताओं में संलिप्त आरोपियों के खिलाफ एकत्रित होकर प्रिंसिपल कार्यालय के समक्ष जोरदार विरोध प्रदर्शन किया। जिसके अन्तर्गत प्रिंसिपल कार्यालय का घेराव किया गया एवं विरोध स्वरूप जमकर नारेबाजी की।

स्टाफ एसोसिएशन के प्रधान सुखबीर सिंह कीन्हा ने बताया कि पिछले 6 महीनों से छोटूराम बहुतकनीकी का स्टाफ भविष्य निधि घोटाले में संलिप्त आरोपियों पर कार्यवाही को लेकर प्रिंसीपल एवं प्रशासक के सामने कई बार मांग कर चुका है कि आरोपियों पर जल्द से जल्द कार्यवाही की जाए।

इसी संदर्भ में स्टाफ सदस्यों ने प्रशासक द्वारा गठित तीन सदस्यीय जांच समिति के सामने व्यक्तिगत रूप से उपस्थित होकर सभी साक्षय प्रस्तुत किए एवं अपने लिखित बयान भी दर्ज करवाये एवं इस घोटाले में संलिप्त सभी अधिकारियों एवं कर्मचारियों पर यथोचित कार्यवाही की मांग रखी। इसके अतिरिक्त जांच समिति से जांच रिपोर्ट जल्द से जल्द पूरा करने की भी अपील की। परन्तु आज तक इस पर कोई ठोस कार्यवाही न होने के कारण स्टाफ में भारी आक्रोश है क्योंकि प्रशासक ने जांच अक्तूबर अंत तक पूर्ण करवाने का आश्वासन दिया था।

प्रधान सुखबीर सिंह कीन्हा ने बताया कि 2004 और 2009 में भविष्य निधि खातों से लगभग 36 लाख रूपये अवैध रूप से निकाले गये। 2013 में भविष्य निधि कार्यालय से प्राप्त लगभग 1.30 करोड़ में से 48 लाख रुपए का संस्थान के दो कर्मचारी लेखाकार सतबीर सिंह व सहायक प्रवीण कुमार अहलावत ने घोटाला कर लिया। स्टाफ ने चेतावनी दी कि अगर भ्रष्टाचारियों के खिलाफ जल्द से जल्द कोई कार्यवाही नहीं हुई तो सभी संस्थानों के स्टाफ के साथ मिलकर जाट कालेज के सामने चार मूर्ति स्थल पर धरना-प्रदर्शन एवं हड़ताल की जायेगी।

इस अवसर पर आमीर सिंह गिल, आनन्द सिंह खत्री, अजीत सिंह, आर.एस. खासा, राज सिंह हुड्डा ने भी यह मांग उठाई कि संस्थाओं में भ्रष्टाचारी को बक्शा नहीं जाए व उचित कार्यवाही हो। अन्य अधिकारी सुशील बाल्यान, सुभाष दहिया, जयकंवार, सुरेन्द्र नान्दल, संजीव सांगवान, सितेन्द्र कुमार, डॉ. रविन्द्र राठी, किरण चावला, प्रवीन दहिया, विकास नरवाल, राजीव शर्मा सहित समस्त स्टाफ मौजूद रहा।

सुखबीर फरमाणिया प्रदेश का भाईचारा बिगाड़ने को कर रहे ओछी बयानबाजी-राजीव मल्होत्रा

अनूप कुमार सैनी / शौरी क्लॉथ मार्किट के सैंकडों दुकानदारों ने आज प्रधान राजीव मल्होत्रा के नेतृत्व में स्थानीय भिवानी स्टैंड पर पूर्व विधायक सुखबीर फरमाणिया का पुतला फूंककर अपना आक्रोश व्यक्त किया।

इस अवसर पर राजीव मल्होत्रा ने कहा कि पूर्व विधायक सुखबीर फरमाणिया ने पंजाबी समाज के विरूद्ध अशोभनीय टिप्पणी करके समाज को आहत किया है। जिससे समाज में गहरा आक्रोश व्याप्त है। उन्होंने कहा कि सुखबीर फरमाणिया ने प्रदेश का भाईचारा बिगाडऩे के लिए ऐसी ओछी बयानबाजी की है। जिसका पंजाबी समाज खुलकर विरोध करता है तथा मुख्यमंत्री मनोहर लाल से सुखबीर के खिलाफ मामला दर्ज कर कार्यवाही करने की मांग करता है।

राजीव मल्होत्रा ने कहा कि पंजाबी समाज हरियाणा का अभिन्न हिस्सा है तथा हरियाणा की तरक्की में उसका अहम योगदान है। पंजाबी समाज ने कभी किसी सरकार से आरक्षण देने जैसी मांग नहीं की तथा न ही किसी अन्य मदद का मोहताज रहा है। उनका कहना था कि अपने स्वाभिमान के बलबूते पर पंजाबी समाज ने प्रदेश को तरक्की की नई राह दिखाई है। कुछ स्वयंभू नेता आपसी भाईचारा खराब करने तथा वोटों की राजनीति के चलते समाज पर अनाप-शनाप बयानबाजी कर रहे हैं। जिसे किसी भी सूरत में सहन नहीं किया जायेगा।

इस अवसर पर मुख्य रूप से प्रदीप सपड़ा, धीरज चावला, नवीन आहूजा चीनी, धीरज मलिक, सोनू बत्तरा, हरीश आहूजा, ऋषि मल्होत्रा, लवली गुगनानी, प्रवीण गिरधर, सुनील नासा, कश्मीरी लखीना, मैया दास बत्तरा, अशोक कथूरिया, प्रेम मल्होत्रा, मिंटू चुघ, श्याम चावला, प्रीतम खुराना, प्रवीन सिक्का, अनिल बजाज, चन्द्रेश सिक्का, रिंकू तनेजा, सुभाष लखीना, विनोद आहूजा, गोविन्द लखीना आदि प्रमुख रूप से मौजूद रहे।

गणतंत्र दिवस पर कांग्रेसी निकालेंगे प्रभातफेरी – Rohtak Daily News

अनूप कुमार सैनी / आजाद हिंद फौज के महानायक नेताजी सुभाषचंद्र बोस की 122वीं जयती कांग्रेस कार्यकताओं ने पूर्व मंत्री आफताब अहमद व पूर्व विधायक भारत भूषण बत्तरा की अध्यक्षता में बड़े उल्लास व श्रद्वा के साथ मनाई। पूर्व विधायक भारत भूषण बतरा ने कांग्रेस भवन में उनके चित्र पर पुष्प चढ़ाकर पुष्पांजलि अर्पित करते हुए उन्हें नमन किया। Rohtak Daily News

इस अवसर पर उपस्थित कार्यकर्त्ताओं को सम्बोधित करते पूर्व विधायक भारत भूषण बतरा ने कहा कि सुभाषचंद्र बोस युवाओं के प्रेरणा स्त्रोत थे। नेताजी के द्वारा दिया गया जयहिंद का नारा भारत का राष्ट्रीय नारा बन गया। उन्होंने कहा कि जो राष्ट्र अपने स्वतंत्रता सेनानी और शहीदों को भुला देता है, उसका वजूद अधिक समय तक कायम नहीं रहता। भारत को आजाद कराने में नेताजी सुभाषचंद्र बोस की भूमिका काफी अहम थी। उन्होंने आजाद हिंद फौज का गठन कर अंग्रेजों के छक्के छुड़ा दिए थे।

पूर्व विधायक ने कहा कि नेताजी सुभाषचंद्र बोस, महात्मा गांधी,भगत सिंह, राजगुरू, चन्द्रशेखर आजाद, सुखदेव, इंदिरा गांधी व भारत रत्न राजीव गांधी जैसे महापुरूषों के बलिदान के कारण आज हम खुली हवा में सांस ले रहे हैं। उनका कहना था कि हमारे वीर महापुरूषों ने अपने प्राणों की आहूति देकर देश की एकता, अखण्डता को कायम रखा, जिसके लिए आने वाली पीढ़ी उनके योगदान को हमेशा याद रखेगी। गणतंत्र दिवस के अवसर सुबह साढ़े 5 बजे भिवानी स्टैण्ड से निकलने वाली प्रभातफे री को लेकर चर्चा की गई।

पूर्व मंत्री आफताब अहमद ने नेताजी सुभाषचंद्र बोस के जीवन एवं बलिदान पर विस्तार से प्रकाश से प्रकाश डाला। उन्होंने कहा कि नेताजी की विचारधारा आज भी प्रासंगिक है। हरियाणा शूरवीरों की भूमि है। शौर्य हरियाणा प्रदेश की परंपरा रही है। आजाद हिंद फौज में भी सबसे अधिक सख्या प्रदेश के जवानों की थी, जो कि हमारे लिए गर्व की बात है। देशभक्ति का जो जज्बा नेताजी सुभाषचंद्र बोस में था वह युवाओं के लिए एक मिसाल था। नेताजी द्वारा दिया गया नारा तुम मुझे खून दो में तुम्हे आजादी दूंगा।

इस अवसर पर कांग्रेस प्रवक्ता ललित मोहन सैनी, देवेन्द्र भारत, डा. विजय पुण्डीर, नंद कपूर, सरपंच कृष्ण छाबड़ा, सोमनाथ मेहता, तिलकराज मग्गू, भगतराम बहमनिया, रघुबीर सैनी, अनुराग परवाना, बलदेव मिगलानी, रामजीदास मिगलानी, कृष्ण राव, मुलखराज धवन, कुलदीप केडी, चरणजीत शर्मा, सुरेश राणा, ब्लॉक अध्यक्ष सुरेश देवी, प्रदेश उपाध्यक्ष रीतुराज सैनी, संजय नांदल, सिद्वांत भाटिया, इत्यादि उपस्थित रहेे।

ठेके पर कार्यरत 15000 कर्मचारियों को स्थाई करे सरकार : वीरेन्द्र सिंह धनखड़

अनूप कुमार सैनी / राज्य की भाजपा सरकार द्वारा गत दिनों प्रदेश में चतुर्थ श्रेणी के भर्ती किये गये 18000 कर्मचारियों को देर से उठाया गया सही कदम बताते हुए पिछले लगभग 10 वर्षों पहले से कार्यरत कार्यरत चतुर्थ श्रेणी के 15000 कर्मचारियों को भी स्थाई करने की मांग आज हरियाणा कर्मचारी महासंघ द्वारा की गई। महासंघ के प्रांतीय महासचिव वीरेन्द्र सिंह धनखड़ ने आज पत्रकार वार्ता के दौरान कहा कि सरकार पहले से कार्यरत कर्मचारियों को निकालने की तैयारी करती है तो एक हाथ से लेकर दूसरे हाथ से देने वाली बात सिद्ध होगी।

उन्होंने कहा कि प्रदेश में कर्मचारियों की भारी कमी है तथा सभी विभागों में चतुर्थ श्रेणी के पहले से ठेके पर 15000 कर्मचारी काम कर रहे हैं। हरियाणा कर्मचारी महासंघ ने अक्टूबर माह में राज्य परिवहन की लंबी चली हड़ताल में दूसरे विभागों व बोर्डों के कर्मचारियों द्वारा हड़ताल में हिस्सा लेने के उपरांत कुछ विभागों के अध्यक्षों द्वारा हड़ताल के कारण सर्विस ब्रेक व पदोन्नति रोकने के आदेश जारी किये हैं जोकि पूर्ण रूप से सरकार का अलोकतांत्रिक कदम है।

प्रदेश का कर्मचारी लोकतांत्रिक तरीके से हड़ताल का नोटिस देने के उपरांत ही हड़ताल पर जाता है। यह पहला अवसर है जब हरियाणा सरकार ने इस प्रकार की दमनकारी नीति अपनाते हुए सीधा कर्मचारी हितों पर कुठाराघात करने का प्रयास किया है।

प्रांतीय महासचिव वीरेन्द्र सिंह धनखड़ ने अब तक की वर्तमान सरकार के कार्यकाल को पूर्ण रूप से कर्मचारी विरोधी बताया। उन्होंने कहा कि कर्मचारियों की मांगों व समस्याओं का समाधान करना तो दूर उल्टा सरकार सरकारी विभागों को तालाबंदी करके पूंजीपतियों को लाभ पहुंचाना चाह रही है। परिवहन, बिजली, शिक्षा, स्वास्थ्य, कृषि जैसे महत्वपूर्ण विभागों का लगातार आकार घटाया जा रहा है।

राज्य परिवहन के कर्मचारियों द्वारा 24 जनवरी को जींद की छोटूराम धर्मशाला में नागरिक सम्मेलन बुलाया गया है। जिसमें जींद विधानसभा क्षेत्र से सत्तापक्ष व विपक्ष के सभी प्रतिनिधियों को भी आमंत्रित किया गया है कि वे निजीकरण, पुरानी पैंशन बहाली, एक्सग्रेशिया नीति, राज्य में रिक्त पड़े पदों पर पक्की भर्ती, केंद्र के समान वेतनमान व भत्ते, जनवरी 2016 से देय मकान किराया भत्ते आदि बारे में अपनी स्थिति स्पष्ट करे।

उन्होंने कहा कि राजनीतिक दलों को प्रदेश का कर्मचारी वर्ग केवल चुनाव के समय ही याद आता है। अब प्रदेश का कर्मचारी किसी भी राजनैतिक दल से गुमराह नहीं होगा तथा अपने अधिकारों व मांगों की लड़ाई लडऩे में पूणर्् रूप से सक्षम है। यदि सरकार ने समय रहते वार्ता की मेज पर मांगों का समाधान करने की बजाए इस प्रकार लगातार कर्मचारी विरोधी फैसले लेती रहेगी तो सरकार को भारी नाराजगी का सामना करना पड़ेगा।

इस अवसर पर जोगेन्द्र बल्हारा, युद्धवीर दांगी, मनीष शर्मा, रामधारी गिल, उमेद घणघस आदि प्रमुख रूप से मौजूद रहे।

छोटूराम बहुतकनीकी में हुए ईपीएफ घोटाले की जांच का दायरा बढ़ाने को लेकर प्रशासक से मिले आजीवन सदस्य

अनूप कुमार सैनी / जाट शिक्षण संस्थाओं की छोटूराम बहुतकनीकी संस्थान में हुए 48 लाख रूपये के ईपीएफ घोटाले को लेकर इससे पहले भी कई बार आजीवन सदस्य प्रशासक/एडीसी अजय कुमार से मिल चुके हैं।

गौरतलब है कि इस घोटाले का पर्दाफाश आजीवन सदस्य एडवोकेट चंचल नांदल ने पिछले दिनों किया था। इसकी जांच में ज्यादा तेजी न देखते हुए आज फिर जाट शिक्षण संस्था के सैंकड़ों आजीवन सदस्य आज एकत्रित होकर एडवोकेट चंचल नांदल की अध्यक्षता में अतिरिक्त उपायुक्त व प्रशासक अजय कुमार से मिले तथा संस्था में हुए ईपीएफ घोटाले में कुछ नए तथ्य जोड़ने की मांग की।

प्रशासक को सौंपे पत्र में आजीवन सदस्यों ने आरोप लगाया कि मौजूदा प्रिंसिपल तथ्यों को छुपाने का काम कर रहे हैं इसलिए जांच पूरी होने तक उन्हें छुट्टी पर भेजा जाए। वहीं सुपरिडेन्ट भी जांच को गुमराह व तथ्यों को छिपाने का काम कर रहा है। इसके बारे में आजीवन सदस्यों ने लगभग एक महीने पहले भी प्रशासक से मिलकर उन्हें आगाह किया था। साथ ही बताया था कि सुपरीडेंट को पदमुक्त कर दिया जाए ताकि घोटाले की जांच सही तरीके से हो सके।

साथ ही उन्होंने मांग उठाई की इस घोटाले के दौरान जो भी प्रिंसिपल या प्रधान रहे हैं, उनकी भूमिका की भी जांच होनी चाहिए व उन्हें भी जांच के दायरे में लाना चाहिये क्योंकि इसके बगैर इस घोटाले की सारी परतें नहीं खुल पायेंगी।

वरिष्ठ आजीवन सदस्य व पूर्व कॉलेजियम सदस्य मास्टर देवराज नांदल ने कहा कि जिन-जिन कर्मचारियों का पीएफ गलत तरीके से निकाला गया है या उन्हें इसकी भरपाई नहीं हुई, उन्हें तुरन्त प्रभाव से उनका ईपीएफ खातों में रिफंड कर दिया जाए क्योंकि ईपीएफ एक ऐसी चीज है जिसे कोई भी कर्मचारी अपने दुख-सुख के वक्त में उसका इस्तेमाल करता है।  Rohtak Daily News

इस अवसर पर मुख्य रूप से आजीवन सदस्य निर्मला देवी, सुखबीर दहिया, वीरेन्द्र, हिमांशु राठी, रविन्द्र बोहर, संदीप नांदल, नरेश नांदल, वेदपाल नैन, दीपक मलिक, संदीप मलिक, शिक्षाविद् अनिल दूहन आदि प्रमुख रूप से शामिल रहे।

एससी/बीसी कर्मचारियों के मारपीट के दोषी अधिकारियों पर कार्यवाही हो : रंगा

हर्षित सैनी / ऑल हरियाणा शैड्यूल कॉस्ट इम्पलाईज फैडरेशन के प्रदेश अध्यक्ष आर.के. रंगा ने कहा कि देश की 70 वर्ष की आजादी के बाद भी दलित एवं पिछड़े वर्ग को हीन भावना से देखा जाता है और उसके साथ अमानवीय व्यवहार किया जाता है।

उन्होंने बताया कि गत 15 जनवरी को एक सोची समझी साजिश के तहत एससी/बीसी वर्ग के कर्मचारियों के साथ लिया गया। बिजली विभाग हरियाणा के एससी/बीसी कर्मचारियों की यूनियन 1978 से ही अस्तित्व में है और आज तक यूनियन ने कभी भी हड़ताल नहीं की है। इसलिए सिस्टर यूनियन व अधिकारी एससी/बीसी कर्मचारियों से द्वेष भावना रखते हैं व ईष्र्या करते हैं।

रंगा ने बताया कि एससी/बीसी के कर्मचारी 15 जनवरी को उपमंडल अधिकारी हांसी के बुलावे पर बैठक के लिए गए थे। उस समय एसडीओ विकास ठकराल ने उनको जाति सूचक गालियां देनी शुरू कर दी। जब यूनियन के समझदार कार्यकर्त्ताओं ने ठकराल को गाली देने से रोकना चाहा तो वे और ज्यादा उत्तेजित हो गये तथा और ज्यादा गालियां बकने लगे क्योंकि एसडीओ विकास ठकराल ने यह एक योजना के तहत साजिश रची हुई थी।

ऑल हरियाणा शैड्यूल कॉस्ट इम्पलाईज फैडरेशन के प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि इस साजिश में अन्य यूनियनों के कार्यकर्त्ताओं के साथ मिलकर पहले हमला किया तथा बाद में यूनियन के कार्यकत्र्ताओं पर ही मार-पीट व अभद्र व्यवहार का आरोप लगा कर एफआईआर दर्ज करवा दी। इस मामले में यूनियन ने भी एसएचओ हांसी को अपनी रिर्पोट दी। मगर यूनियन की शिकायत पर पुलिस ने कोई भी कार्यवाही नहीं की।

उनका कहना था कि इसका मुख्य कारण है बिजली विभाग में सीएमडी शत्रुजीत कपूर, जोकि डीजीपी रैंक का अधिकारी है। उनको उच्च अधिकारियों ने आधी-अधूरी जानकारी देकर गुमराह कर दिया है। हो सकता है कि उनका भी कोई संदेश हांसी पुलिस के पास आ गया हो। इसलिए उनका मुकदमा भी दर्ज नहीं हो सका जबकि हताश और निराश होकर एससी/बीसी यूनियन के कर्मचारियों ने न्यायालय का सहारा लिया। तब जाकर पुलिस ने आधा-अधूरा मुकदमा दर्ज किया है।

उनका कहना था कि इसी कारण इसके पीछे 7 जनवरी को सिस्टर यूनियन ने एक दिवस पर हड़ताल का आह्वान किया था। जिसमें एससी/बीसी ईम्पलाईज यूनियन ने हिस्सा नहीं लिया था। इसलिए 7 जनवरी को बिजली विभाग का कार्य सुचारू रूप से चलता रहा। उस पर दूसरी यूनियन ने अपना अपमान महसूस किया और विकास ठकराल के साथ मिलकर यह सब कारनामा हुआ।

प्रदेश अध्यक्ष आर.के. रंगा व भीम गौरव नव चेतना मंच के प्रदेश अध्यक्ष पूर्ण सिंह चाहलिया ने कहा कि सभी एससी/बीसी के कर्मचारियों को जल्द ही बहाल किया जाए और दोषी अधिकारी विकास ठकराल व एसडीसी राज सिंह को तुरन्त गिरफ्तार करके उनको जेल में बन्द करें जैसा कि एससी/एसटी एक्ट में प्रावधान है। अन्यथा सरकार को बहुत बड़ा खामियाजा भुगतना पड़ेगा क्योंकि सरकारें अस्थाई होती हैं और समाज स्थाई होता है।